मुख्य समाचारः

सम्पर्कःeduployment@gmail.com

18 जून 2011

डीयूःसाइंस में 5, कॉमर्स में 1% की कमी के संकेत

दिल्ली विश्वविद्यालय के विभिन्न कॉलेजों में पहली कटऑफ के आधार पर दाखिले होने का एक दिन बाकी है। कई कॉलेजों में पहली कटऑफ के आधार पर सीटें फुल हो चुकी हैं तो कुछ कॉलेजों में आधे से अधिक सीटें भर चुकी हैं। पर आउट ऑफ कैंपस के कई कॉलेजों में अभी दाखिले के मौके काफी हैं। नॉर्थ कैंपस के कई कॉलेजों में कॉमर्स और साइंस के विषयों की सीटें पूरी भर चुकी है।

रामलाल आनंद कॉलेज के प्राचार्य वी.के.शर्मा कहते हैं कि कई कोर्सो में दाखिले बेहतर हुए हैं। पर साइंस के कुछ कोर्सो में उम्मीद है कि चार से पांच प्रतिशत की गिरावट आएगी। हालांकि पिछले साल की तुलना में ये साइंस कोर्स में रूझान बढ़ा है। दयाल सिंह कॉलेज के प्राचार्य ए.के.बख्शी कहते हैं कि इस बार कटऑफ अधिक होने के बाद भी दाखिले काफी बेहतर हुए हैं। कॉमर्स हो या साइंस सभी में अभी तक बेहतर प्रतिक्रिया मिली है। इतना तय है कि साइंस कोर्स में दूसरी कटऑफ में अंतर ठीक आएगा।


देशबंधु कॉलेज इवनिंग के प्राचार्य एस.पी.अग्रवाल कहते हैं कि साइंस कोर्स में कटऑफ में चार से पांच प्रतिशत का फर्क आएगा। हालांकि कॉमर्स के कोर्स में कटऑफ में बढ़ा फर्क नहीं आएगा। कॉमर्स कोर्सों के कटऑफ में गिरावट एक प्रतिशत की ही आएगी। पीजीडीएवी कॉलेज सांध्य के प्राचार्य रामजी नारायण कहते हैं कि कॉमर्स कोर्स में दाखिले अच्छे हुए हैं। ऐसे में दूसरी कटऑफ में बहुत अधिक गिरावट की उम्मीद करना सही नहीं होगा।

दूसरी कटऑफ में कॉमर्स में दो प्रतिशत की गिरावट ही आएगी। रामलाल आनंद सांध्य कॉलेज के प्राचार्य डा. अशोक कुमार भी इस बात से इत्तेफाक रखते हैं कि कॉमर्स कोर्स में दूसरी कटऑफ में ज्यादा अंतर नहीं पड़ेगा। दूसरी कटऑफ में कॉमर्स में एक से दो प्रतिशत तक ही गिरावट आएगी। उन्होंने कहा कि इस बार कटऑफ अधिक होने के बाद भी अधिक संख्या में छात्रों ने दाखिले लिए हैं(हिंदुस्तान,दिल्ली,18.6.11)।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी के बगैर भी इस ब्लॉग पर सृजन जारी रहेगा। फिर भी,सुझाव और आलोचनाएं आमंत्रित हैं।