मुख्य समाचारः

सम्पर्कःeduployment@gmail.com

25 जून 2011

गोरखा, जौनपुरी रनवल्टा व गदा ओबीसी में शामिल

केंद्र सरकार ने गोरखाओं को सरकारी नौकरियों में और शैक्षणिक संस्थानों में 27 प्रतिशत आरक्षण देने के लिए अन्य पिछड़ा वर्ग में शामिल कर दिया है। गोरखा के अलावा गदा और जौनपुरी रनवल्टा को भी ओबीसी में शामिल किया गया है। कैबिनेट ने दो जून को देश की कुछ जातियों को ओबीसी में शामिल करने का निर्णय ले लिया था। 16 जून को सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय ने कैबिनेट के फैसले के अनुसार उन जातियों को अधिसूचित कर दिया है जिन्हें ओबीसी के तहत लाभ दिया जाएगा। मंत्रालय सूत्रों के अनुसार, उत्तराखंड की तीन जातियों को ओबीसी में शामिल किया गया है। इनमें अप्रत्याशित फैसला गोरखाओं को लेकर है। जौनसार की बहुत सी जातियां ओबीसी में हैं। रनवल्टी छूट गई थी जिसे अब शामिल किया गया है। इससे पहले इसमें उत्तराखंड की चर्चित जनजातियों में बुक्सा, थारु, राजि, भोटिया और जौनसारी हैं। भारत के संविधान में प्रावधान है किकोई नेपाली भारत में जन्मा हो या पांच से अधिक समय से भारत में रह रहा हो तो उसे भारत में तमाम सुविधाएं, सरकारी नौकरी या फौज में जाने का मौका मिल जाता है(राष्ट्रीय सहारा,दिल्ली,25.6.11)।

1 टिप्पणी:

  1. आरक्षण आरक्षण आरक्षण --- पता नहीकब रुकेगा ये सिलसिला।

    उत्तर देंहटाएं

टिप्पणी के बगैर भी इस ब्लॉग पर सृजन जारी रहेगा। फिर भी,सुझाव और आलोचनाएं आमंत्रित हैं।