मुख्य समाचारः

सम्पर्कःeduployment@gmail.com

10 जुलाई 2011

उत्तराखंडःपार्ट टाइम एमबीए पाठय़क्रमों पर रोक

ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (एआईसीटीई)ने विभिन्न व्यावसायिक शिक्षण संस्थानों में चल रहे पार्ट टाइम एमबीए कोसरे पर रोक लगा दी है। एआईसीटीई ने कहा है कि वह अब किसी भी प्रबंधन संस्थान को पार्ट टाइम तकनीकी शिक्षा कार्यक्रम चलाने की इजाजत नहीं देगी। इसका सीधा अर्थ यह है काउंसिल अब किसी भी संस्था को नए पार्ट टाइम एमबीए कोर्स चलाने की इजाजत नहीं देगी और इन मौजूदा पाठय़क्रमों में अब नए प्रवेश भी नहीं हो सकेंगे। यानी नौकरी करते हुए एमबीए करने की आशा पाले लोगों की उम्मीद को झटका लगा है। हर संस्थान को पार्ट टाइम कोर्स के नवीनीकरण के लिए एआईसीटीई में आवेदन देना होता है। सूत्रों की मानें तो एआईसीटीई के पास पिछले दिनों ऐसी कई शिकायतें आई कि कई व्यावसायिक संस्थान इस सुविधा का अनुचित लाभ लेते हुए पार्ट टाइम एमबीए के नाम पर दूसरे पाठय़क्रम चला रहे हैं और एआईसीटीई के मानकों व गाइडलाइनों का भी पालन नहीं कर रहे। विशेषज्ञों का कहना है कि एआईसीटीई के इस कदम से एमबीए करने के इच्छुक हजारों सेवारत लोग एमबीए की शिक्षा से वंचित हो जाएंगे। इससे बहुत से नौकरी पेशा अनुभवी लोग व्यावसायिक शिक्षा नहीं ले पाएंगे और इस तरह उनके करियर का विकास भी रुक जाएगा। बता दें कि पार्ट टाइम एमबीए कोर्स नियमित एमबीए से काफी सस्ते होते हैं। अक्सर इन पाठय़क्रमों के लिए सामान्य नियमित पाठय़क्रम की अपेक्षा एक तिहाई शुल्क ही लिया जाता है। इसके अलावा रोजगार या नौकरी पेशा लोगों को पार्टटाइम एमबीए करने में सहूलियत होती थी। इस फैसले से ऐसे लोगों को झटका लगा है(राष्ट्रीय सहारा,देहरादून,10.7.11)।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी के बगैर भी इस ब्लॉग पर सृजन जारी रहेगा। फिर भी,सुझाव और आलोचनाएं आमंत्रित हैं।