मुख्य समाचारः

सम्पर्कःeduployment@gmail.com

17 जुलाई 2011

लखनऊःअम्बेडकर नगर मेडिकल कालेज की एमबीबीएस सीटों पर आरक्षण को लेकर असमंजस

कम्बाइड प्री मेडिकल टेस्ट (सीपीएमटी) की काउंसलिंग में चौथे दिन अम्बेडकर नगर मेडिकल कालेज की एमबीबीएस की सीटों के आरक्षण पर अफरा-तफरी बनी रही। एमबीबीएस की शेष बची सीटों को लॉक करते वक्त अभ्यर्थियों ने कर दावा किया अम्बेडकर नगर मेडिकल कालेज में इन सीटों पर पचास प्रतिशत से ज्यादा आरक्षण है, जब कि कुछ अभ्यर्थियों ने दावा किया एमसीआई के मानक के अनुसार पचास प्रतिशत सीटों पर आरक्षण होता है। चिकित्सा शिक्षा विभाग अधिकारियों का कहना है नियमानुसार ही सीटों को लॉक किया जा रहा है। शनिवार को काउंसलिंग में तीन हजार रैंक तक सीटों को लॉक कर दिया गया। काउंसलिंग के चौथे दिन सुबह एमबीबीएस की आरक्षित सीटों का लॉक करते वक्त अभ्यर्थियों ने दावा कर दिया कि अम्बेडर नगर मेडिकल कालेज में एमबीबीएस की 100 सीटों में 15 सीटे ऑल इंडिया लेबल की है। शेष बची 85 सीटों में पचास प्रतिशत से ज्यादा आरक्षण है। जबकि कुछ अभ्यर्थियों ने कहा कि एमसीआई के मानक के अनुसार कुल सीटों में पचास प्रतिशत ही आरक्षण दिया जाता है। इसको लेकर काउंसलिंग में कुछ देर अफरा-तफरी की स्थिति बनी रही। आनन-फानन में नियमों की जानकारी की गयी। इसके बाद चिकित्सा शिक्षा विभाग अधिकारियों ने अभ्यर्थियों को समझाया कि निर्धारित नियमों के अनुसार ही कार्य किया जा रहा है। काउंसलिंग में 1500 रैंक से शुरू हुई सीटों को लॉक करने में बीडीएस की सभी सीटे लॉक कर दी गयी। इसके बाद बीएएमएस व बीयूएमएस की सीटे तीन हजार रैंक तक लॉक कर दी गयी। उधर बारिश के कारण काउंसलिंग के बाहर लगा टेंट टपकने लगा। इसके बाद बैठने की व्यवस्था नहीं होने पर अभ्यर्थी व परिजन बाहर खड़ी अपनी गाड़ियों में ही बैठे रहे। इस अव्यवस्था से परिजनों में आक्रोश व्याप्त था। उधर चिकित्सा शिक्षा विभाग अधिकारियों ने पकड़े गये लगभग 15 मुन्ना भाईयों के खिलाफ पुलिस में रिपार्ट दर्ज कराने के निर्देश सभी सेंटरों के अधिकारियों को दिया है(राष्ट्रीय सहारा,लखनऊ,17.7.11)।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी के बगैर भी इस ब्लॉग पर सृजन जारी रहेगा। फिर भी,सुझाव और आलोचनाएं आमंत्रित हैं।