मुख्य समाचारः

सम्पर्कःeduployment@gmail.com

16 अगस्त 2011

डीयूःनौवीं कटऑफ के बाद भी सीटें खाली

दिल्ली विश्वविद्यालय में नौवीं कट ऑफ के आधार पर भी ओबीसी की सीटें नहीं भर पाई हैं । प्रशासन 10वीं कट ऑफ पर जारी क र सक ता है ।दिल्ली विश्वविद्यालय में नौवीं कट ऑफ के आधार पर ओबीसी दाखिले की अंतिम तिथि मंगलवार है लेकि न अब तक सीटें नहीं भर पाई हैं , जबकि कई कॉलेजों में कट ऑफ 39 प्रतिशत तक कर दिया गया है । मंगलवार को विश्वविद्यालय प्रशासन एक बैठक कर के ओबीसी एडमिशन पर चर्चा करेगा। बैठक में सीटों को भर ने की रणनीति बनाए जाने की संभावना जताई जा रही है । इस मामले में कॉलेजों का कहना है कि कम से कम प्रतिशत तय कर के कट ऑफ निकाली गई है लेकि न सीटें फि र भी नहीं भर पा रही हैं । ज्यादातर कॉलेजों में ओबीसी कोटे की सीटें खाली हैं । दयाल सिंह कॉलेज में नौवीं कट ऑफ के आधार पर तीन दिन में महज दो दाखिले ही हु ए हैं , जबकि एक दिन का समय बाकी है । प्राचार्य डॉ. आईएस बख्शी का क ह ना है कि बीकॉम ऑनर्स और इकोनॉमिक्स ऑनर्स में सीटें खाली हैं । शनिवार को दो ही दाखिला हु आ है । हालांकि अभी भी छात्रों के पास एक दिन का मौका है । उन्होंने कहा कि अभी भी दोनों कोर्सों में 26 सीटें खाली हैं । उ न्होंने अगले क ट ऑफ की संभावनाओ को लेकर कहा कि अगर विश्वविद्यालय की ओर से निर्देश जारी होता है , तो अगली कट ऑफ भी निकाली जाएगी। नौवीं कट ऑफ में क ई कॉलेजों ने 9 प्रतिशत तक की गिरावट की है । कॉलेज हर कट ऑफ में जमकर गिरावट कर रहे हैं । भगिनी निवेदिता और अदिति कॉलेज में बीए प्रोग्राम के लिए 40 प्रतिशत कट ऑफ किया है, जबकि जाकिर हुसैन कॉलेज में संस्कृ त ऑनस के लिए 39 प्रतिशत कट ऑफ किया गया था। एसपीएम कॉलेज में बीए प्रोग्राम के लिए 54 प्रतिशत कट ऑफ र खी गई है । हालांकि डीयू के कई ऐसे कॉलेजो में कट ऑफ 80 प्रतिशत के आसपास है । मिरांडा हाउस, हंसराज कॉलेज और कि रोड़ीमल जैसे कॉलेजों में नौवी कट ऑफ भी काफी ऊपर ही है। सूत्रों की मानें तो ओबीसी की सीटों को किसी भी हालात में सामान्य वर्ग के लिए तब्दील नहीं किया जाएगा। 

कवायद 
- एडमिशन के मुद्दे पर विश्वविद्यालय प्रशासन मंगलवार को करेगा बैठक 
- ओबीसी प्रवेश में एक और क ट ऑफ आने की संभावना(हिंदुस्तान,दिल्ली,16.8.11)

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी के बगैर भी इस ब्लॉग पर सृजन जारी रहेगा। फिर भी,सुझाव और आलोचनाएं आमंत्रित हैं।