मुख्य समाचारः

सम्पर्कःeduployment@gmail.com

12 जून 2012

बिहारःपीएमओ पहुंचा केन्द्रीय विवि का मामला

राजधानी पटना व मोतिहारी सेंट्रल यूनिवर्सिटी तथा वैशाली में डीम्ड यूनिवर्सिटी की स्थापना का मामला प्रधानमंत्री तक पहुंच गया है।

राजद के वरिष्ठ सांसद डा. रघुवंश प्रसाद सिंह ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को पत्र लिखकर आग्रह किया है कि 12वीं पंचवर्षीय योजना के आकार लेने के समय ही इसका प्रावधान किया जाए। 11वीं पंचवर्षीय योजना में बिहार के हिस्से में एकमात्र केन्द्रीय विवि आया था। गया में सुरक्षा विभाग की जमीन पर इस विश्वविद्यालय की स्थापना की प्रक्रिया शुरू हो गई है। काफी समय से इसकी स्थापना मोतिहारी में किए जाने की मांग होती रही है। राजद सांसद का मानना है कि देश में 44 केन्द्र विवि हैं, जिसमें सिर्फ यूपी में 4 केन्द्रीय व 8 डीम्ड विवि है। इसके विरुद्ध बिहार में एक भी नहीं है। ऐसे में मोतिहारी में भी केन्द्रीय विवि की स्थापना होनी चाहिए। पत्र में पटना विवि को केन्द्रीय विवि का दर्जा दिए जाने की वकालत करते हुए कहा गया है कि उसी के समकक्ष इलाहाबाद को यह दर्जा दे दिया गया। यही नहीं मानव संसाधन मंत्रालय ने लोकसभा में यह गलत तथ्य प्रस्तुत किया कि इससे संबंधित प्रस्ताव उसे नहीं मिला। जबकि, कई बार प्रस्ताव भेजे जा चुके हैं(दैनिक जागरण,मुजफ्फरपुर,12.6.12)।

1 टिप्पणी:

  1. बिहार में एक नहीं बल्कि कम से कम चार केंद्रीय विश्वविद्यालय की जरूरत है। बिहार की आबादी को देखते हुए यह मांग गलत भी नहीं है। बिहार के छात्र केंद्रीय विश्वविद्यालय के अभाव में दूसरे प्रदेशों में जाते हैं और वहां के लोग उनसे सौतेला व्यवहार करते हैं। यदा-कदा बिहारी विद्यार्थियों के साथ मारपीट की घटनायें हमेशा प्रकाश में आती रहती है। सो, जितनी जल्दी हो सके बिहार को उसका हक मिलना ही चाहिए
    आखिर क्या बात है कि आजादी के बाद से बिहार को एक भी केंद्रीय विश्वविद्यालय नहीं मिला? इसके जिम्मेदार कौन हैं?

    उत्तर देंहटाएं

टिप्पणी के बगैर भी इस ब्लॉग पर सृजन जारी रहेगा। फिर भी,सुझाव और आलोचनाएं आमंत्रित हैं।