मुख्य समाचारः

सम्पर्कःeduployment@gmail.com

29 नवंबर 2010

अब बिना टाइप किए हिंदी में भेजें संदेश

सूचना तकनीकी की दुनिया लगातार आपका काम आसान बना रही है। आइटी ने ऐसा ही एक बड़ा कमाल किया है भाषा के क्षेत्र में। अब आप अपनी भाषा में बिना टाइप किए एसएमएस भेज सकेंगे। यानी,मोबाइल कीपैड पर निर्भरता खत्म होने की कगार पर है। यह संभव हुआ है 'पाणिनी' सॉफ्टवेयर की मदद से। इस सॉफ्टवेयर को नोएडा की कंपनी ल्यूना इरगोनॉमिक्स ने विकसित किया है। इसकी मदद से हिंदी समेत 11 भारतीय भाषाओं में संदेश भेजा जा सकता है।

खास बात यह है कि इस प्रणाली के तहत टाइप करने के अक्षर हैंडसेट के की-पैड पर नहीं, बल्कि स्क्रीन पर आएंगे। समझने की खातिर इसकी तुलना गूगल के ट्रांसलिटरेशन सॉफ्टवेयर से की जा सकती हैं। वहां अंग्रेजी में टाइप करने पर वह शब्द उस भाषा का रूप ले लेता है, जिसका ऑप्शन आप चुनते हैं। मसलन हिंदी में 'तुम' लिखने के लिए आपको अंग्रेजी के शब्द टी, यू, एम टाइप करने पड़ते हैं। ट्रांसलिटरेशन और पाणिनी के बीच फर्क यह है कि इसमें अक्षर स्क्रीन पर आ जाएंगे।

इरगोनॉमिक्स के सीईओ मेजर अभिजीत भट्टाचार्य ने बताया कि इस सॉफ्टवेयर को मोबाइल हैंडसेट पर इंसटाल करना होगा। इसके बाद इससे हिंदी और अंग्रेजी के साथ बांग्ला, तेलुगु, मराठी, तमिल, गुजराती, कन्नड़, उड़िया व पंजाबी जैसी भारतीय भाषाओं में एसएमएस भेजे जा सकते हैं। इसे किसी भी जावा इनेबल्ड मोबाइल पर उपयोग किया जा सकता है। जावा प्रोग्रामिंग की भाषा है। फिलहाल इस बारे में कई मोबाइल हैंडसेट कंपनियों के साथ बातचीत चल रही है। जिस भी कंपनी के साथ करार होगा, उसके हैंडसेट पर यह टेक्नोलॉजी जुड़ी होगी। पुराने हैंडसेटों में भी यह टेक्नोलॉजी इंसटॉल की जा सकती है। ग्राहकों को इसे सीधे भी उपलब्ध कराया जा रहा है।


कंपनी ने इसे पेटेंट कराने के लिए आवेदन कर दिया है। रूसी, जापानी, अरबी जैसी कई विदेशी भाषाओं में भी इस टेक्नोलॉजी का विकास किया जा चुका है। अंग्रेजी भाषा में महज 26 कैरेक्टर होते हैं, वहीं कईभारतीय भाषाओं में 70 के करीब। ऐसे में मोबाइल के की-पैड से अन्य भाषाओं में लिखना संभव नहीं है। इरगोनॉमिक्स की यह तकनीकी मोबाइल हैंडसेट कंपनियों को इस परेशानी से निजात दिला देगी।

अपनी भाषा में यूं होगा संवाद
-एप्लीकेशन को चलाने पर स्क्रीन पर एक की-बोर्ड खुल जाएगा। जो भी कैरेक्टर आप को चुनना है उसे ले लें। इस तरह आप टाइप करने की जहमत से बच जाएंगे।
-इस साफ्टवेयर को डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यूडॉटपाणिनीकीपैडडॉटकॉम से डाउनलोड किया जा सकता है।
-पाणिनी में कंप्रेशन तकनीक की सहायता से एक बार में 180 से 210 अक्षरों का एसएमएस भेजा जा सकता है(दैनिक जागरण संवाददाता,दिल्ली,29.11.2010)।

1 टिप्पणी:

  1. ये तो बहुत बढिया होगा क्या ये कमप्यूटर पर उपलब्ध हो सकता है फिर तो और भी अच्छा हो जायेगा।

    उत्तर देंहटाएं

टिप्पणी के बगैर भी इस ब्लॉग पर सृजन जारी रहेगा। फिर भी,सुझाव और आलोचनाएं आमंत्रित हैं।