मुख्य समाचारः

सम्पर्कःeduployment@gmail.com

02 जुलाई 2011

राजस्थान में चिकित्सा विभाग में आचार्य भर्तीःसामान्य महिला वर्ग का कट ऑफ मात्र 5.52

चिकित्सा शिक्षा विभाग के सहायक आचार्य नाक, कान, गला रोग के पदों पर भर्ती के लिए आयोजित आन लाइन परीक्षा में अत्यंत कठिन परचा ले डूबा। सामान्य महिला वर्ग का कट ऑफ मात्र 5.52 ही रहा। यह आयोग के इतिहास का अब तक का सबसे कम कट ऑफ बताया जा रहा है।

जानकारी के मुताबिक आयोग ने सहायक आचार्य नाक, कान, गला और सहायक आचार्य नेत्र रोग के पदों पर भर्ती के लिए पिछले माह परीक्षा आयोजित की थी। हालांकि परीक्षा में अभ्यर्थी कम थे, लेकिन बताया जा रहा है कि नाक, कान और गला रोग के सहायक आचार्य के लिए जो प्रश्न पत्र आयोग ने दिया, वह अत्यंत कठिन था। यही कारण रहा कि जो अभ्यर्थी इसमें शामिल हुए उनमें से ज्यादातर की लुटिया डूब गई।

सामान्य, ओबीसी और एससी (सामान्य) की कट ऑफ भी कोई बहुत ज्यादा अच्छी नहीं रही। इन तीनों वर्गो की कट ऑफ 28.17 रही। सहायक आचार्य नेत्र रोग की कट आफ भी सभी वर्गो में 62 से 78 के बीच ही रही। यह भी प्रतियोगिता के इस दौर में बहुत कम मानी जा रही है। आयोग सूत्रों के मुताबिक एक बड़ा कारण यह भी हो सकता है कि चूंकि परीक्षा ऑन लाइन थी, जिसके लिए शायद अभ्यर्थी पहले से तैयार नहीं थे। संभव है इसकी वजह से भी कट ऑफ नीचे रही।


परीक्षा के बाद ही पता थे नंबर: परीक्षा चूंकि ऑन लाइन थी, इसीलिए परीक्षा के फौरन बाद ही अभ्यर्थियों को पता चल गया था कि उनके नंबर क्या हैं। कट ऑफ काफी कम गया है। 36-36 अभ्यर्थियों को यानि एक पद के मुकाबले तीन-तीन अभ्यर्थियों को इंटरव्यू के लिए बुलाया गया है। - डॉ. केके पाठक, सचिव, आरपीएससी(दैनिक भास्कर,अजमेर,2.7.11)

1 टिप्पणी:

  1. Bad news.

    सामान्य, ओबीसी और एससी (सामान्य) की कट ऑफ भी कोई बहुत ज्यादा अच्छी नहीं रही।

    मुबारकबाद !!!
    त्वचा में दर्द के अभिग्राहकः Receptors

    उत्तर देंहटाएं

टिप्पणी के बगैर भी इस ब्लॉग पर सृजन जारी रहेगा। फिर भी,सुझाव और आलोचनाएं आमंत्रित हैं।