मुख्य समाचारः

सम्पर्कःeduployment@gmail.com

31 जुलाई 2011

झारखंडःछोटानागपुर में छात्रवृत्ति की राशि से काटा कमीशन

छात्राओं की पढ़ाई के लिए कल्याण विभाग द्वारा दी जा रही छात्रवृत्ति की राशि से कमीशन काटने का मामला सामने आया है। छोटानागपुर बालिका उच्च विद्यालय में शुक्रवार को छात्राओं के बीच छात्रवृत्ति की राशि बांटी गई।

इसमें कक्षा आठवीं, नौवीं और 10वीं की प्रत्येक छात्रा को 660 रुपए और सातवीं की छात्राओं को 360 रुपए देने थे। लेकिन इन छात्राओं को 660 की जगह ६50 और 360 की जगह 350 रुपए ही दिए गए।

प्रत्येक छात्रा को दी जानेवाली राशि से 10-10 रुपए कमीशन काट लिए गए। सभी कक्षाओं को मिला कर कुछ १४क् छात्राओं के बीच छात्रवृत्ति की राशि बांटी गई। इस हिसाब से कुल 14 सौ रुपए कमीशन काटा गया।

शिक्षकों को देने के लिए काटी गई राशि

विद्यालय की प्राचार्या उर्मिला मंडल ने बताया कि छात्रवृत्ति के लिए जो राशि शिक्षकों की जेब से खर्च हुई है, उसकी भरपाई के लिए छात्राओं की राशि में से १क् रुपए की कटौती की गई है।

उनका कहना था कि छात्रवृत्ति फॉर्म भरने में शिक्षकों को सात से आठ बार कल्याण विभाग जाना पड़ा था। इसके अलावा विद्यालय की ओर से जो सीडी तैयार की गई है, उसमें 600 रुपए खर्च आए थे। कुल मिला कर 12 से 15 सौ रुपए खर्च आए।


छात्राओं ने कहा 650 रु. ही मिले 

दैनिक भास्कर को दूरभाष से कुछ छात्राओं ने बताया था कि छात्रवृत्ति की राशि में से 10 रुपए काटे जा रहे हैं। इसके बाद भास्कर की टीम विद्यालय पहुंची। वहां जब इसकी पड़ताल की गई तो बात सच साबित हुई। 

छात्राओं द्वारा कही गई बातों की रिकार्डिग भी की गई। हालांकि प्राचार्य ने भी स्वीकार किया कि इस मद में जो खर्च आए थे उसकी भरपाई के लिए राशि में कटौती की गई है(दैनिक भास्कर,रांची,30.7.11)।

2 टिप्‍पणियां:

  1. हमारी कामना है कि आप हिंदी की सेवा यूं ही करते रहें। कल सोमवार को
    ब्लॉगर्स मीट वीकली में आप सादर आमंत्रित हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  2. सरकार को भी तो चाहिये कि मास्टरों को खर्चा जेब से करने को न कहे...

    उत्तर देंहटाएं

टिप्पणी के बगैर भी इस ब्लॉग पर सृजन जारी रहेगा। फिर भी,सुझाव और आलोचनाएं आमंत्रित हैं।